डाइट और फिटनैस

फैट (चर्बी) बर्न और वजन कम करने के बेहतरीन तरीके! Methods to reduce weight and burning fat in Hindi!

चाहे आप अपने संपूर्ण स्वास्थ्य में सुधार करना चाहते हों या अतिरिक्त  फैट बर्न  करना चाहते हों। आहार और व्यायाम के अलावा, कई अन्य फेक्टर है जो वजन और फैट बर्न को प्रभावित कर सकते हैं।कुछ सरल कदम के द्वारा आप जल्दी और आसानी से फैट बर्न कर सकते हैं। फैट बर्न करने और वजन घटाने के कुछ अच्छे तरीके ये हैं।

1. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग शुरू करें।
स्ट्रेंथ ट्रेनिंग एक प्रकार का व्यायाम है जिसके लिए आपको प्रतिरोध (Resistance) के खिलाफ अपनी मसल्स को संकुचित या कॉन्ट्रैक्ट करना पड़ता है। यह मसल्स को  मोटा करता है और उसकी ताकत बढ़ाता है।
आमतौर पर, स्ट्रेंथ ट्रेनिंग में समय के साथ मांसपेशियों में सुधार करने के लिए वजन उठाना शामिल होता है।
बॉडी-वेट एक्सरसाइज करना, वेट उठाना या जिम इक्विपमेंट का इस्तेमाल करना कुछ आसान तरीके हैं जिनसे आप स्ट्रेंथ ट्रेनिंग शुरू कर सकते हैं।

2. हाईप्रोटीन डाइट फॉलो करें।
अपने खाने में अधिक प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ शामिल करना, आपकी भूख को कम करने और अधिक फैट बर्न एक प्रभावी तरीका है।
अधिक उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन खाने से पेट चर्बी के जोखिम को कम किया जा सकता है।
वेट लॉस के लिए प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ जैसे मांस, समुद्री भोजन, अंडे, फलियां और डेयरी उत्पादों को अपने खाने में शामिल करना अत्यंत आवश्यक है।

3. भरपूर  नींद से भूख में कमी आती है और वजन बढ़ने की संभावना भी कम हो जाती है।
नींद की कमी से भूख कंट्रोल करने वाले हार्मोन में बदलाव होता है जिससे भूख में वृद्धि और मोटापे का खतरा बढ़  जाता है। यूं तो हर आदमी को  नींद की जरूरत भिन्न भिन्न होती है लेकिन वेट कंट्रोल के लिए कम से कम 7 घंटे नींद अत्यंत आवश्यक होती है। एक नियमित नींद के लिए कैफीन के सेवन को कम करें और बिस्तर में जाने से पहले इलेक्ट्रॉनिक गेजेट्स जैसे मोबाइल और टीवी को बंद कर दें।

4. सिरका अपने स्वास्थ्य गुणों के लिए अच्छी तरह से जाना जाता है। सिरका न केवल शुगर को कंट्रोल करने का काम करता है बल्कि यह हृदय स्वास्थ्य में काफी योगदान देता है। आहार में सिरका को शामिल करने से दैनिक कैलोरी की मांग 275 कैलोरी तक कम हो जाती है।
   
5. हो सकता है यह सब अजीब लगे लेकिन वास्तविकता यह है कि हेल्दी फैट के इस्तेमाल से वजन बढ़ता नहीं बल्कि घटता है। जैतून का तेल, नारियल तेल, एवोकाडो, नट्स और बीज  हेल्दी फैट के कुछ उदाहरण हैं जो फैट बर्न पर लाभकारी प्रभाव डाल सकते हैं।

6. मीठे पेय और शराब दोनों का सेवन पेट की चर्बी बढ़ाता है। वजन घटाने और फैट बर्निग को बढ़ाने के लिए हरी चाय और पानी काफी लाभदायक हैं।

7. भोजन में फाइबर का अधिक सेवन फैट बर्निंग और वजन कम करने में मदद करता हैै।
फल, सब्जियां, फलियां, साबुत अनाज, नट्स और बीज उच्च फाइबर खाद्य पदार्थों के कुछ उदाहरण हैं जो फैट बर्न और वजन घटाने  में मदद करते हैं।

8. रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट्स में फाइबर और न्यूट्रिएंट्स की कमी होती है। रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट्स पेट की बढ़ी हुई चर्बी, वजन और हाई ब्लड शुगर के लिए जिम्मेदार होते हैं।
सर्वोत्तम परिणामों के लिए पेस्ट्री, पास्ता, सफेद ब्रेड और नाश्ते में रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट्स के अपने सेवन को कम करें। उन्हें साबुत अनाज जैसे गेहूं, जौ और ओट्स के साथ बदलें।

9. कार्डियो
जिसे एरोबिक एक्सरसाइज के रूप में भी जाना जाता है, व्यायाम के सबसे सामान्य रूपों में से एक है जो विशेष रूप से हृदय और फेफड़ों को मजबूत करता है। लोग जितना अधिक एरोबिक व्यायाम करते हैं उतनी ही अधिक पेट की चर्बी कम होती है। कार्डियो कमर कम करने, शरीर की फैट बर्निंग और मांसपेशियों को बढ़ाने में मदद कर सकता है।दौड़ना, चलना, साइकिल चलाना और तैराकी कुछ कार्डियो अभ्यासों के कुछ उदाहरण हैं जो फैट और वजन घटाने में मदद कर सकते हैं।

10. कॉफी पीजिये
कॉफी में पाया जाने वाला कैफीन एक केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (CNS) उत्तेजक के रूप में काम करता है, और फैटी एसिड के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है।
अध्ययन बताते हैं कि अधिक कैफीन का सेवन वजन घटाता है। बिना चीनी, क्रीम और दूध की कॉफी पी जाए तो उसके लाभ ज्यादा होंगे।

11. प्रोबायोटिक्स को अपने भोजन में शामिल करें।।
प्रोबायोटिक्स आपके पाचन तंत्र में पाए जाने वाले एक प्रकार के लाभकारी बैक्टीरिया हैं जो स्वास्थ्य संबंधी कई पहलुओं में सुधार करते हैं।
प्रोबायोटिक्स में पाए जाने वाले लैक्टोबैसिलस बैक्टीरिया विशेष रूप से वेट लॉस और फैट लॉस में सहायता करते हैं।


12.
खाने में आयरन की मात्रा बढ़ाएं।
आयरन की कमी थायरॉयड ग्रंथि के फ़ंक्शन को बिगाड़ देता है जिससे थकान और सांस की तकलीफ जैसे लक्षण पैदा हो सकते हैं। एक अध्ययन में पाया गया कि आयरन की कमी का इलाज करने से वजन कम होता है।

आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं। कुछ आदतों को अपनी दिनचर्या में शामिल करना, भोजन और आपकी जीवनशैली में कुछ परिवर्तन लाकर फैट बर्निंग को बढ़ाया जा सकता है।