बच्चों का स्वास्थ्य

नवजात शिशु को फॉर्मूला फीडिंग के नुकसान Risks of Formula or Artificial feeding to newborn in Hindi!

बच्चे का जन्म माताओं के लिए एक सुखद अहसास होता है। बच्चे के जन्म के बाद एक कड़ी परीक्षा शुरू होती है। शिशुओं को स्तनपान कराया जाए या बोतल फीड दिया जाए इसका चयन करना बहुत ही मुश्किल होता है।

हम समझ सकते हैं कि माताएं इस बात से चिंतित रहती हैं कि बच्चे को पर्याप्त दूध मिल रहा है या नहीं। इससे पहले कि बच्चे को फॉर्मूला या बोतल फीड दें, बोटल फीडिंग के कुछ जोखिम को जान लें ।
अगर फॉर्मूला फीडिंग देने का कोई मेडिकल कारण नहीं है तो फॉर्मूला फीडिंग देने से पहले दोबारा गौर करें।

कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि फार्मूला फीडिंग बच्चे की आंत के सामान्य बैक्टीरिया को बदल सकता है। यह बच्चे में पेट संबंधी इनफेक्शन के जोखिम को बढ़ा सकता है। यह बाद में इम्यून समस्याओं (एलर्जी) के जोखिम को भी बढ़ा सकता है।

फार्मूला फीडिंग के नुकसान

  • कान के इन्फेक्शन
  • अस्थमा
  • एक्जिमा
  • डाईबिटीज टाइप 1 और 2
  • फेफड़ों का इन्फेक्शन
  • मोटापा
  • दस्त
  • फार्मूला फीडिंग तैयार करने की  परेशानी
  • मां से लगाव में कमी
  • एलर्जी
  • आई क्यू में कमी
  • एनीमिया / खून की कमी
  • एंटीबॉडी की कमी
  • ब्रेस्ट फीड की कोई तुलना नहीं है: फॉर्मूला  फीडिंग स्तन के दूध का मुकाबला नहीं कर सकती क्योंकि बच्चों की बढ़ती उम्र के साथ स्तन के दूध का निर्माण बदलता है।
  • फॉर्मूला फीड में उचित समय और योजना की जरूरत होती है जबकि ब्रेस्ट फ़ीड को किसी भी योजना की आवश्यकता नहीं होती है, यह आसानी से उपलब्ध होता है।
  • व्यय : कृत्रिम फ़ीड में बहुत खर्च की आवश्यकता होती है।
  • गैस और कब्ज : कृत्रिम फार्मूला फीड बच्चे के लिए पचाने में मुश्किल है। यह स्तन के दूध की तुलना में लंबे समय तक पेट में रहता है, जिसके कारण आपका बच्चा कम बार  स्तनपान करेगा जो आपके दूध उत्पादन में कमी का कारण बन सकता है।

बोतल फीडिंग की वजह से बच्चे के दूध पीने की आदत बदल जाती है और वह मां का दूध पीना कम कर देता है या बंद कर देता है। 

स्तनपान के स्वास्थ्य लाभ

अस्थमा, डायबिटीज, कान में संक्रमण (ओटिटिस मीडिया), एक्जिमा, मोटापा और फेफड़ों में संक्रमण में कमी शामिल हैं। स्तनपान से सडन इन्फेंट डेथ सिंड्रोम (SIDS) और बचपन के ल्यूकेमिया की संभावना कम हो जाती है।

फॉर्मूला फीडिंग देने से पहले उसके फायदे और नुकसान को अवश्य देखें।